nimbu pani pine fayde

नीबू खाने के 100 फायदे | निम्बू पानी | समय विटामिन्स कब कितना खाये ?

जानिए निम्बू खाने के फायदे क्या होते होते है और इसको खाने का सही समय क्या होता है ? क्या आप जानते है नीबू का ज्यादा सेवन कई नुकसान करता, कई लोग इसका गलत तरीको से सेवन करते है जिससे उन्हें लाभ के बदले नुकसान उठाना पड़ता है. वही अगर इसका सही तरीके से सेवन किया जाए तो यह 100 से ज्यादा बिमारियों से बचा सकता है और उनका इलाज कर सकता है,

हिन्दू धर्म में आयुर्वेद के जन्मदाता भगवान् धन्वन्तरि की एक कथा भी है जो इस तरह है, एक बार भगवान धन्वन्तरि से भक्तो ने पूछा इस संसार में करोड़ों फल-फूल जड़ी बूटी है और हर एक में कोई न कोई गुण है. अब एक आम आदमी हर एक के गुण कहाँ तक याद रखेगा ?

इसलिए आप कृपा कर ऐसे किसी फल के बारे में बताये जो अकेला ही इंसान के सिर से लेकर पैर तक के सभी रोगों को नष्ट कर सके. तब भगवान धन्वंतरि ने जिस फल का नाम लिया वह था “नीबू”.  वास्तव में नीबू सो मर्ज की एक दवा है, यह अकेला ही वात, पित्त, कफ तीनो को कण्ट्रोल में रखता है. सुबह खाली पेट निम्बू पानी पिने के फायदे भी बहुत सारे होते है इस बारे में भी हमने आपको निचे पोस्ट में बहुत कुछ बताया है.

nimbu khane pine ke fayde kya hai

Nimbu Khane Ke Fayde in Hindi

निम्बू खाने के फायदे क्या है

आप यह पोस्ट पूरा पड़ेंगे तो निम्बू के फायदे और निम्बू खाने का समय खाने का सही तरीका इसके अलावा निम्बू में कोनसा एसिड होता है और निम्बू में कोनसा विटामिन है कैसे इसका सही तरीके से सेवन करके कई सारी बिमारियों से बचा जा सकता है. यह सब कुछ आपको यहाँ पर जानने को मिलेगा. इसलिए आप आराम से यह पूरा पोस्ट पड़ें.

अकेला नीबू ऐसा फल है जिसका सही तरीके से सेवन किया जाए तो यह कोई रोग आपको होने ही नहीं देता, इस वीडियो में हम जानेंगे नीबू को खाने का सही समय, सही तरीका, कब नहीं खाना चाहिए, इसके गुण, 100 ग्राम नीबू में कितने प्रोटीन तत्व होते है, नीबू खाने के फायदे और नुकसान क्या है, यह किन 100 बिमारियों से बचाता है और कैसे इसका सही इस्तेमाल करे. तो आप पूरा वीडियो जरूर देखिएगा, चलिए आगे बढ़ते है.

पेट साफ़ करता है निम्बू खाने से फायदे क्या आप जानते है, नीबू का सेवन हमारे शरीर से विषैले तत्वों को शरीर से बहार करता है, नीबू में एक औंस रस में 32 ग्रेन साइट्रिक अम्ल होता है, नीबू के रस में मेलेटस और टार्ट्रेट्स भी भरपूर मात्रा में होता है, इन तत्वों से शरीर के विषैले अंश यानि पेट की गन्दगी, आंतों में फंसा मल मूत्र आदि सभी नीबू के रस के सेवन से शरीर से बाहर निकल जाते है.

nimbu

नीबू के सेवन से यूरिक अम्ल Acid बहुत तेजी से शरीर से बाहर निकलता है जिससे की ज्यादा चाय, कॉफ़ी, मांस मछली खाने वालो को बहुत लाभ होता है, कैसा ही गरिष्ठ भोजन करे वह पच जाता है और एसिडिटी गैस भी नहीं बनती.

नीबू में विटामिन C सबसे ज्यादा होता है इसके साथ ही इसमें विटामिन A B भी पर्याप्त मात्रा में पाए जाते है. विटामिन C होने से नीबू शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है, पेट साफ़ करता है, खून को भी स्वस्थ रखता है, साथ ही एंटी ऑक्सीडेंट का काम भी करता है. इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी कण्ट्रोल में रहता है. नीबू हमारे स्वास्थ्य के लिए एक रक्षाकवच का काम करता है. नीबू के फायदे बहुत सारे होते है.

थकान मिटाता है, ज्यादा मेहनत करने से पैदा हुई थकान को दूर करने और वापस शरीर के अंदर ताकत लाने में नीबू का अद्भुत योगदान होता है, एवेरेस्ट शिखर की चढ़ाई में सर एडमंड हिलेरी और तेनसिंग अपने साथ नीबू ले गए उन्होंने चढ़ाई के दौरान सबसे ज्यादा नीबू का शरबत ही लिया, नीबू शरीर को चुस्त, फुर्तीला और तुरंत शक्ति देता है आलस्य भी मिटाता है.

सुबह खाली पेट नीबू पानी पिने के फायदे

याद रहे, नीबू का रस लेते वक्त इसके बीजो को निकाल दें, बीज पेट में नहीं जाने चाहिए, ये बीज आंतों में जाकर अपेंडिसाइटिस पैदा करते है. वैसे नीबू के बीजो का भी बिमारियों के इलाज में उपयोग होता है, लेकिन यहाँ हमारा कहना है की नीबू के बीजों को नीबू के रस के साथ पेट में नहीं जाने दे. आइये जानते है और निम्बू खाने के फायदे क्या होते है.

nimbu pani pine fayde

आप यह जानते ही होंगे की गर्मी के मौसम में नीबू का सेवन करने से कई रोगों से न केवल बचाव होता है बल्कि शरीर की खोई हुई ऊर्जा भी मिलती है. नीबू के सारे गुण आपको शिकंजी के सेवन करने से मिल जाते है, इसलिए गर्मी के मौसम में शिकंजी जरूर पिए यह एक सुरक्षाकवच तैयार करके शरीर को गर्मी और बाकी रोगों से बचाती है. यह कम खर्चीली होती है और आम व्यक्ति भी इसका भरपूर सेवन कर सकता है. याद रहे शिकंजी ताज़ा ही बनाकर सेवन करे फ्रिज में रख कर सेवन नहीं करे.

निम्बू खाने का तरीका

  • नीबू का सेवन करते वक्त इन बातों का खास ध्यान रखे, आइये जानते है अब निम्बू खाने का सही तरीका क्या है कैसे और क्या सावधानी रखना चाहिए.
  • हमेशा पिले पके निम्बू का ही सेवन करे, नीबू पीला यानि पका हुआ सबसे ज्यादा गुणकारी होता है.
    इसके अलावा नीबू का रस अकेला यानी बिना कुछ मिलाये कभी न पिएं.
  • एक गिलास पानी में एक चम्मच नीबू रस काफी होता है,
  • नीबू की दाहकता कम करने के लिए इसमें चुटकीभर नमक जरूर मिलाये.

निम्बू में कोनसा विटामिन होता है

चलिए अब जानते है एक नीबू में कोनसा विटामिन होता है ?

रेशा 19%, कार्बोहायड्रेट 4%, विटामिन C  128%, विटामिन B6 – 5%, राइबोफ्लाविन 2%, कैल्शियम 6%, पोटेशियम 4%, प्रोटीन 2%, कैलोरी 1%, थायमिन 3%, कॉपर 13%, आयरन 4%, मैग्नेसियम 3% और 100 ग्राम नीबू में 0.3 ग्राम फट पाया जाता है.

nimbu benefits in hindi

अब जानते है नीबू खाने का सही टाइम क्या होता है. यानि की निम्बू कब खाना चाहिए जिससे की हमारे शरीर को उसके पुरे पुरे लाभ मिल सके.

निम्बू खाने का सही समय क्या है

वैसे तो नीबू खाने का सही समय सुबह खाली पेट होता है, सुबह खाली पेट इसका सेवन सबसे ज्यादा लाभ देता है लेकिन आप इसको बाकी समय भी ले सकते है, अगर आप इसके पुरे लाभ लेना चाहते है तो सुबह चाय की जगह नीबू रस का सेवन करना शुरू करे और इसके सेवन के 20-25 मिनट तक कुछ नहीं खाये. नीबू के फायदे बहुत सारे है यह सिर से पैर तक के रोगों को मिटाता है.

इसके अलावा अगर आपको पाचन और कब्ज की समस्या ज्यादा रहती है तो आप रोजाना रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुने पानी में एक नीबू का रस निचोड़कर पि जाए इस प्रयोग से सुबह पेट खुलकर साफ़ होता है, कुछ दिन लगातार प्रयोग करने से कब्ज जड़ से ख़त्म हो जाती है और पाचन भी दुरुस्त हो जाता है. इसके अलावा आप सुबह और शाम को भोजन करने के बाद भी निम्बू पानी का सेवन कर सकते है.

नीबू कब नहीं खाना चाहिए

अब जानते है नीबू कब नहीं खाना चाहिए और नीबू के परहेज क्या है

नीबू को सुबह शाम सेवन कर सकते है लेकिन नीबू को दुपहर के भोजन के साथ नहीं खाना चाहिए, हाँ, स्वाद के लिए प्याज में ज़रा सा नीबू रस मिलाकर ले सकते है.
गर्मियों और बारिश में नीबू का खूब सेवन करे लेकिन सर्दियों में नीबू का कम मात्रा में ही सेवन करना चाहिए.

इसके अलावा स्वाद के लिए हम अक्सर दाल सब्जी में सीधे नीबू निचोड़ देते है जो की बहुत ही गलत होता है, क्योंकि हमारे मुख में लार ग्रंथियां होती है जो लार छोड़ती है. लेकिन नीबू की खटास के कारण भोजन करते वक्त वह लार ग्रंथियां कुछ देर को लार नहीं छोड़ पाती और बिना लार मिला भोजन पेट में चला जाता है जो की फिर ठीक से पच नहीं पाता. इसलिए दाल सब्जी में नीबू नहीं निचोड़े, बल्कि खाना खाने के बाद आप गिलास में नीबू रस मिलाकर ले सकते है.

यह सवाल आपके मन में भी आया होगा की एक दिन में कितने निम्बू खाना चाहिए तो चलिए इसका जवाब जानते है.

एक दिन में कम से कम 2-3 नीबू और ज्यादा से ज्यादा छह नीबू लिए जा सकते है.

नीबू का रस हमेशा चीनी मिटटी कांच या स्टील के बर्तनो में ही रखे, पीतल, लोहे, ताम्बे या कांसे के बर्तनो में कभी नहीं रखे, यह इनमे नुकसान देते है. और हाँ जिन्हे पेट में घाव हो वह भी नीबू कभी नहीं खाये.

चलिए अब आपको बताते है नीबू किन किन बिमारियों से बचाता है

अजीर्ण, अपच, अरुचि, खट्टी डकारे, ज्यादा प्यास लगना, अनिद्रा, आँख के रोग, उलटी, अनीमिया, एसिडिटी, गैस, कब्ज, कान के रोग, कमर दर्द, खांसी, खाज खुजली, गले के रोग, गठिया, जोड़ों का दर्द, घुटने का दर्द, त्वचा के रोग, सर्दी जुकाम, टीबी की बीमारी, दाद होना, अस्थमा, दस्त लगना, नशे की आदत, दांत के रोग, नकसीर, पेट दर्द, पेट में कीड़े, पीलिया, पथरी, पसीने की बदबू, फोड़े फुंसी, बवासीर पाइल्स, डायबिटीज, मुँह के छले, मलेरिया, मुँह की बदबू, मूत्र के रोग, मोटापा, मिर्गी, लू लगना, दिल की कमजोरी, स्त्री रोग, सफ़ेद दाग, हैजा, सिर दर्द, हिचकियाँ, हिस्टेरिया, कील मुहासे, झुर्रियां दाग धब्बे, बालों की समस्या आदि यह तो थोड़े ही नाम है, लेकिन नीबू सिर से लेकर पैर तक के सभी रोगों से बचाता है.

चलिए अब आगे सुबह खाली पेट नीबू पानी पिने के फायदे और नीबू को किन रोगों में कैसे उसका उपयोग करे यह जानते है.

Subah Khali pet Nimbu pani pine fayde kya hai ?

नीबू के फल में फ्लेवोनाइट तत्व होता है, जो एंटी ऑक्सीडेंट है, यह कैंसर से लड़ने में मदद करता है. इसके अलावा इसका नियमित सेवन शरीर में पथरी नहीं बनने देता और जमी हुई पथरी को धीरे-धीरे निकाल देता है, मूत्र खुलकर आता है और जमा हुआ कचरा बहार निकलता रहता है.

धुप के निशान मिटाता है, यह एक शीतल एजेंट है यह जलने से होने वाली जलन को भी कम करता है. धुप से त्वचा जलने पर आधा कप कच्चे दूध में आधा नीबू निचोड़कर अच्छे से मिलाकर चेहरा हाथ पैरों पर लगाए और अच्छे से मलें तो धुप से जली हुई त्वचा ठीक हो जायेगी.

त्वचा को चमक देता है, नीबू का रस एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक दवा होने के कारण त्वचा से जुड़े रोग का भी इलाज करता है, इसके रस को सूर्य तीखी किरणों के प्रभाव से पैदा होने वाले दर्द को कम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. यह मधुमक्खी के डंक के दर्द को कम करने में भी मददगार होता है, यह मुहासों और एक्ज़िमा के लिए भी बहुत असरकारी होता है. नीबू पानी को रोजाना लेते रहने से त्वचा चमकदार और सुकोमल बनती है, यह खून को शुद्ध करता है त्वचा में नए सेल्स को बनाता है जिससे की त्वचा सुन्दर सुकोमल बनती है.

शरीर की सफाई करता है, अगर कोई रोजाना सुबह उठने के बाद खाली पेट गुनगुने गर्मी पानी में नीबू रस मिलाकर पिए तो उसे कभी कब्ज नहीं होगी, पेट खुलकर साफ़ होगा, आँतों की गन्दगी साफ़ होगी, सांसों की बदबू भी आना बंद हो जाएगी, पाचन क्रिया दुरुस्त रहेगी, आपको भूख खुलकर लगेगी. इसको सुबह के समय लेने से शरीर में जितने भी विषैले और नुकसानदायक तत्व होते है वह सब मल मूत्र के जरिये बाहर निकल जाते है.

बालों के लिए भी फायदेमंद होता है, नीबू के रस का इस्तेमाल बालों के लिए बहुत किया जाता है, रुसी, बालों का झड़ना और बालों से जुडी सभी समस्याओं का उपचार इसके जरिये किया जा सकता है. अगर आप नीबू के रस को सीधे ही बालों में लगाते है तो यह बालों में एक प्राकृतिक चमक देने लगता है.

nimbu

कब्ज गैस में रामबाण होता है निम्बू खाना

  • पेट की गैस खत्म करता है, एक चम्मच नीबू का रस, एक चम्मच शहद और 10-15 ग्राम अदरक का रस इन तीनो को आपस में मिलाकर चाटे तो तुरंत पेट की गैस ख़त्म हो जाती है.
  • गैस का दूसरा उपाय बताते है, एक पका हुआ नीबू लेकर उसको बिच में से काट लें और दोनों तरफ सेंधा नमक और कालीमिर्च लगाकर नीबू के दोनों टुकड़ों को धीमी आंच पर हल्का गर्म कर लें फिर इसे धीरे-धीरे चूसें तो तुरंत ही पेट की गैस ठीक हो जाएगी और मुँह का स्वाद भी बदल जायेगा.
  • इसके अलावा अगर काला नमक और मीठा सोडा मिलाकर नीबू पानी पिया जाए तो खट्टी डकारे आना, पेट में गैस बनना, पेट का भारीपन और जी मिचलना जैसी समस्याओं से तुरंत आराम मिलता है.
  • पसीने की बदबू दूर करता है, अगर आपके शरीर में पसीने की बदबू आती है तो निम्बू के पत्तों को पीसकर जहाँ ज्यादा पसीने की बदबू आती हो वहां पर लगाए, बदबू आना बंद हो जायेगी.
  • अगर ज्यादा प्यासा लगती हो तो पानी में निम्बू निचोड़कर पिए इससे ज्यादा प्यास लगना बंद हो जाती है.
  • कई लोगों की बार बार थूकने की आदत होती है, इस आदत से छुटकारा पाने के लिए रोजाना भोजन में एक चम्मच नीबू के रस को 10- 15 ग्राम अदरक के रस में मिलाकर खाना खाने के बाद खाये तो बार बार थूक आना बंद हो जायेगा.
  • उलटी आने पर भी नीबू का रस एक चम्मच, एक चम्मच पानी और एक ही चम्मच ग्लूकोस इन्हे मिलाकर पीला दें एक घंटे में एक बार दें तो उल्टियां आना बंद हो जाएँगी.

निम्बू खाने से होते है ढेरों फायदे

  • बार बार हिचकी आती हो तो एक नीबू का रस, एक कप गर्म पानी और जरा सा काला नमक और एक चम्मच शहद मिला कर पिने से हिचकी आना बंद हो जाती है.
  • यह उम्र को बढ़ने से रोकने के रूप में भी काम करता है, झुर्रियों और त्वचा पर होने वाले काले धब्बों को हटाता है. पानी और शहद के साथ नीबू के रस का सेवन त्वचा को स्वस्थ और चमकीला बनाता है.
  • नीबू का रस श्वसन और सांस लेने की समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करता है, जैसे की अस्थमा के दौरे से पीड़ित व्यक्ति को शांत करने की क्षमता, विटामिन C का एक भरपूर स्त्रोत होने के कारण यह ज्यादा लम्बे सांसों के रोग को भी ठीक करने में मददगार साबित होता है.
  • हैजा और मलेरिया डेंगू चिकनगुनिया जैसे बिमारियों का उपचार भी नीबू रस को गर्म पानी के साथ सेवन करके किया जा सकता है, क्योंकि यह एक रक्तशोधक के रूप में भी काम करता है.

जैसा हमने बताया है नीबू का रस मूत्रवर्धक भी है और गठिया का इलाज कर सकता है, यह शरीर से रोगाणुओं और विषाक्त पदार्थों को शरीर से बहार करने में मदद करता है. इसके अलावा अपने एंटीबायोटिक गुणों के कारण नीबू गले से जुड़े संक्रमण और गले के रोगों से भी बचाता है.

नीबू का रस पीना दिल की समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है, क्योंकि इसमें पोटेसियम होता है. यह हाई ब्लड प्रेशर, चक्कर आना और उलटी आने से भी रोकता है. साथ ही आमतौर पर मानसिक तनाव और डिप्रेशन को कम करने लिए भी नीबू रस अहम् योगदान देता है. इसके सेवन से शारीरिक तनाव और मानसिक तनाव दोनों में लाभ होता है.

इसके अलावा अगर आप गर्मी के दिनों में नीबू का रस ठन्डे पानी में शक्कर के साथ मिलाकर शिकंजी बनाकर पिएंगे तो आपको थकान का एहसास भी नहीं होगा, गर्मी में इसका सेवन गर्मी से राहत, ठंडक और शरीर के अंदर ताजगी भर देता है. इसलिए गर्मी में नीबू शिकंजी का सेवन हर हाल में करते रहना चाहिए.

एक रिसर्च में यह सामने आया है की नियमित रूप से नीबू का सेवन करने वाले सामान्य व्यक्ति से ज्यादा जीते है और शरीर भी स्वस्थ बना रहता है.

अगर किसी को खून की कमी है तो वह गाजर के जूस के साथ में नीबू का रस मिलाकर पिए तो खून की कमी दूर हो जाएगी, जल्दी से खून बढ़ने लगेगा.

नीबू से वजन कैसे घटाए

मोटापा वजन घटाने में भी नीबू अद्भुत लाभ देता है, सुबह के समय खाली पेट गर्म पानी में नीबू रस मिलाकर पिने से शरीरी में फैट ज्यादा नहीं फैलता, चर्बी घटती है. अगर वजन ज्यादा है तो वह भी धीरे-धीरे कम हो जाता है. नीबू के सेवन से भूख शुद्ध भी होती है, जिससे की व्यक्ति का जरुरत से ज्यादा खाने का मन नहीं करता, इसके अलावा गर्म पानी, शहद और नीबू का रस पेट में क्षारीय वातावरण बनाता है जिससे वजन कम होने में बहुत मदद मिलती है.

इसके लिए आप एक नीबू, 250 ग्राम पानी में डालकर और चुटकी भर नमक मिलाकर सुबह पहली बिना कुछ खाये निहार मुँह इसका सेवन करे तो बहुत लाभ होगा. इसमें आप एक दो चम्मच शहद भी मिला सकते है, लेकिन अगर आप इसमें शहद मिलाते है तो फिर इसमें नमक नहीं मिलाये. इसके सेवन का आपको 1-2 महीने में ही फर्क दिखने लग जायेगा. आम सामान्य व्यक्ति भी इसे सुबह ले सकता है जो की भले ही मोटा नहीं हो, यह और भी कई फायदे देता है.

इसके अलावा दांत दर्द में अगर ताज़ा नीबू का रस दांतों और मसूड़ों पर लगाया जाए तो यह दर्द से छुटकारा पाने में बहुत मदद करता है. साथ ही मुँह की बदबू को भी बंद कर देता है.

भोजन पचाने के लिए भी नीबू रस एक रामबाण आहार है, पेट भरकर भोजन कर लेने के बाद नीबू रस पि लेना चाहिए, यह भोजन को पचाएगा भी और जल्दी से हजम भी करवा देता है.

Nibu Khane Ke Fayde

  • दांतों को चमकाने और सफ़ेद बनाये रखने के लिए आप नीबू के छिलकों को धुप में सुखाकर पीस लें, और मंजन के रूप में इस्तेमाल करे इससे दांत साफ़ रहेंगे और सांसों की बदबू भी दूर होगी. नमक सरसों का तेल और नीबू का रस मिलाकर मंजन करने से दांत मजबूत होते है.
  • पेट दर्द होने पर भी दो चम्मच नीबू का रस और एक चम्मच अदरक का रस लेकर उसमे थोड़ी सी शक्कर डालकर पिने से सभी तरह के पेट दर्द दूर होते है.
  • जब भी पेट में जलन हो, एसिडिटी की समस्या हो तो गुनगुने पानी में एक नीबू रस निचोड़कर उसी वक्त पि जाए यह आपको तुरंत राहत देगा, जरुरत पड़ने पर घंटेभर बाद वापस एक बार और नीबू रस पि लें, जलन एसिडिटी सब खत्म हो जाएँगी.
  • दस्त को रोकने में भी नीबू अद्भुत लाभ देता है, एक कप पानी लेकर उसमें एक नीबू निचोड़ लें और ज़रा सा सेंधा नमक मिला लें. यह एक मात्रा है हर दो घंटे के बाद एक बार इसको लेते रहे, बारह घंटों में आप रोग को भूल जायेंगे और शरीर भी सुस्त नहीं होगा.

nimbu pani pine fayde

इसी तरह खुनी बवासीर होने पर गाय के धारोष्ण दूध में नीबू का रस मिलाकर पिए तो खुनी बवासीर में बहुत लाभ होता है, धारोष्ण दूध यानी तुरंत निकला हुआ दूध.

बवासीर के मस्से ख़त्म करने के लिए भी आप नीबू का रस पांच ग्राम लेकर इसे कपडे से छान लें फिर इसमें इतना ही जैतून का तेल मिलाये. इस मिश्रण में दो तीन ग्राम ग्लिसरीन सिरिंज की मदद से रात को सोते समय गुदा मार्ग में अंदर लगाए तो कुछ ही दिनों में जलन मिट जाएगी और मस्से भी छोटे पड़ जायेंगे.

कई व्यक्तियों को यात्रा के समय उल्टियां बहुत होती है, इसके लिए आप कालीमिर्च, सफ़ेद जीरा और लौंग को नीबू के रस में पीस लें और जरा सा शहद मिलाकर चने के बराबर की छोटी छोटी गोलियां बना लें. यात्रा करते समय ये गोली अपने प्यास ही रखे, रस्ते में चक्कर या उलटी आने पर दो तीन गोली चूस लें तो न जी मिचलायेगा न उलटी आएगी.

भले ही नीबू सो मर्ज की एक दवा हो, लेकिन अगर इसका जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल किया जाए तो यह कई नुकसान भी दे सकता है.

Nimbu Khane Ke Nuksan Kya Hai

अब आइये नीबू के फायदे और नुकसान के इस वीडियो में हम नीबू के नुकसान और नीबू के सेवन में क्या सावधानी रखना चाहिए इस बारे में जानते है.

पैर के जोड़ों में दर्द, गले के टॉन्सिल, पेट में घाव, अल्सर के रोगी को नीबू का सेवन नहीं करना चाहिए. ऐसे लोग सावधानी से नीबू का सेवन करे, नीबू में साइट्रिक एसिड होता है, जिसका दांतों से ज्यादा संपर्क होने से दांत संवेदनशील हो जाते है. इसके अलावा एसिडिटी वालों को भी कम मात्रा में ही नीबू का सेवन करना चाहिए, ज्यादा नीबू पानी सीने में जलन को और बढ़ा सकता है, इसलिए सामान्य मात्रा में ही सेवन करे.

याद रहे नीबू को सुबह खाली पेट ही खाये और बाकी दिन में ज्यादा बार नीबू का सेवन नहीं करे.

अगर आप इसका ज्यादा ही सेवन करेंगे तो यह लाभ के बदले नुकसान देने लग जाता है, क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है, जो की जलन, मुँह के छाले और कमजोरी का कारण बन जाते है. इसलिए अपनी मन मानी करके नीबू का बेसमय सेवन नहीं करे.

जैसा की हमने बताया सुबह खाली पेट यानी उठने के तुरंत बाद नीबू पानी का सेवन करे और जब जब खाना खाने के बाद ऐसा लगेगा की पेट फूल रहा है या आज ज्यादा खाना खलिया तो तब आप खाना खाने के बाद नीबू का सेवन कर सकते है. बाकी समय में नीबू रस नहीं पिए. क्योंकि जब इसकी शरीर में ज्यादा मात्रा हो जाती है तो यह नुकसान करने लगता है. अगर आपको यह वीडियो अच्छा लगा हो तो इसमें दिए लाइक के बटन को जरूर दबाये.

आप बताये गए तरीकों से ही नीबू का सेवन करे तो ही यह आपके शरीर को कंचन जैसे चमका देगा.

उम्मीद करते है आपको निम्बू खाने के फायदे, nimbu khane ke fayde in hindi के बारे में जानकर बहुत अच्छा लगा होगा, यहाँ पर हमने निम्बू के बारे में जितना हो सका उतना सब कुछ बताया है. अगर आपने ठीक से पढ़ा होगा तो आपको निम्बू खाने से होने वाले फायदे के बारे में और नीबू के नुकसान इसको खाने का सही समय कब कितना और कैसे खाये तरीका सब कुछ समझ में आगया होगा.

ऐसे ही जानकारी पाते रहने के लिए और भी निचे दिए पोस्ट पढ़ें. इसके अलावा अगर आपके मन में किसी तरह का डाउट हो तो वह आप निचे कमेंट में बताये.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\\\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.